Nightfall Problem Ayurvedic Cure

I have masturbate since I was 19yrs Old. Nightfall is the uncontrolled ejaculation of semen during sleep. This is generally caused by sexual arousal and orgasm in sweet dreams.Now a days I can understand that my body to be weak and some others problem. What should I do for stop frequent nightfall for forever? If a person have nocturnal emission twice or thrice in a month then no treatment is required but more than this is alarming and treatment is required.Nightfall can be completely cured with the help of Herbal medicines, beside this- medicines are completely natural / herbal and do not have any side effects. The medicines we prepare is 100% safe and effective. We provide best treatment for Night Fall / Swapna Dosh / Nocturnal Emission Treatment in Amroha U.P.(India)

Excesive nightfall problem

More than 3 or 4 times nighfall in a month. Do not take it lightly. It is a sign of others sexual disease. And this also causes of weakness in the body

नाइटफाल का हकीमी इलाज

गलत संगति में रहना, हस्तमैथुन और सैक्स ज्यादा करना, चटपटी चीजें और पकवान खाना, डेली कसरत न करना, अश्लील मूवी फोटो देखना और हर वक्त सैक्स के बारे में सोचना इन आदतों को छोड़ दे तो आपको गुप्त रोग होने की संभावना कम रहती है। वैसे तो नाइट फाल एक नेचुरल क्रिया है नाइट फाल महीने में एक या दो बार हो जाये तो कोई बात नहीं लेकिन जब नाइट 10—15 बार से अधिक यानि डेली होने लगे तो इसे आप हल्के में न लें। तुरंत इलाज के जमील शफाखाने से संपर्क करें और दवाई लें। नाइट फाल हो तो किसी भी उम्र में जाता है लेकिन अधिकतर 20 या 22 साल से कम की उम्र में अधिक होता है बढ़ती उम्र में सेहत के लिए बहुत नुकसानदेय होता है। इससे दिल​, दिमाग और शारीरिक कमजोरी तो होती ही है साथ ही साथ सैक्स पावर भी कम हो जाती है। धीरे धीरे कई प्रकार के गुप्त रोग होने लगते हैं। इस रोग के शुरुआत में ही जमील शफाखाने से इलाज कर लेना चाहिए इससे आपकी सेहत अच्छी होगी और पैसा और कीमती समय की भी बचत होगी।

क्या है धात या धातु रोग और इसका इलाज?

ज्यादा हस्तमैथून सम्भोग और नशा करने वालो को धात का रोग हो जाता है और उनको भी जो ज़ंक फूड या मशालेदार पकवान जयादा खाते है डेली कसरत भी नहीं करते है पेशाब करते समय गाढ़ा चिपचिपा सफ़ेद पानी के सामान पेशाब या पाखाना करते समय निकलता है इसे ही धात या धातु रोग कहते है इस से शरीर में बहुत जल्दी कमजोरी आ जाती है जितना इस रोग को पालोगे उतना ही शरीर कमजोर होता चला जायेगा जमील शफाखाने पर धात या धातु रोग का मुक्कमल इलाज है चाहे कितना पुराना धात का रोग है वो भी 10 दिन के अंदर सही हो जायेगा|

INR 2850 +